Garmi kam karne ke upay

Garmi kam karne ke upay

Garmi kam karne ke upay- बहुत सारे लोगों को हीट बढ़ने की तकलीफ होती है। बहुत सारे लोगों को शिकायत यह होती है कि, डॉक्टर हमारे शरीर में गर्मी बहुत है।  जिससे जल्दी से जल्दी कम कीजिए।  आप में से बहुत सारे लोग शरीर की गर्मी की वजह से परेशान होंगे। 


तो आज हम इसी के बारे में जानकारी लेंगे की हीट बढ़ने के लक्षण कौन-कौन से हैं?  शरीर की गर्मी कम करने के लिए घरेलू उपाय कौन से हैं?  Garmi kam karne ke upay,  गर्मी से बचने के उपाय और अंत में इसके आयुर्वेदिक उपचार भी बताऊंगा। सो लेट्स स्टार्ट। read this post in English

हीट बढ़ने के लक्षण

शरीर अपने आप को ही गर्म महसूस होता है। शरीर का टेंपरेचर नॉरमल टेंपरेचर से थोड़ा सा बढ़ा  हुआ रहता है। इन पेशेंट को पसीना बहुत ज्यादा आता है। दूसरे लोगों को जब ठंड लग रही होती है तब यह लोग फैन लगा कर बैठ जाते हैं।


शरीर ज्यादा गर्म रहता है। खासकर मान पाठ चेहरा और आंखें ज्यादा गर्म रहती है।  कुछ लोगों को हाथ पैरों के तलवों में जलन महसूस होती है। कुछ लोगों को हाथ पैरों में झुनझुनाहट सी महसूस होती है।  या फिर वह सुनने पड़ते हैं।  बार बार मुंह के छाले आना,  लेडीज में पेशाब को जलन होना, पिशाब को जल्दी-जल्दी जाने लगना।  यह भी गर्मी बढ़ने के लक्षण है।

Garmi kam karne ke gharelu upay 

वैसे तो गर्मी कम करने के लिए बहुत सारे घरेलू उपाय है। लेकिन मैं सिर्फ आपको चंद ही उपाय बताऊंगा। जो कारगर होंगे और जिससे रिजल्ट बहुत जल्दी आएगा।


पहला और सबसे महत्वपूर्ण उपाय है रागी का सूप।  1 लीटर पानी लीजिए उसमें 4 बड़े चम्मच रागी का आटा डालिए। उसमें तीन से चार छोटी सी प्यास की पंखुड़ियां डालीए। एक छोटा चम्मच जीरा पाउडर डालिए और चुटकी भर नमक।


 उसके बाद 15 मिनट तक उसे पका लीजिए। पकाने के बाद आप इसे एक साथ भी पी सकते हैं या फिर दिन में थोड़ा थोड़ा भी पी सकते हैं। ऐसा आपको हर दो-तीन में  एक बार करना है।


दूर्वा – दुर्वा एक पवित्र हरी घास होती है। जो हम गणपति को अर्पण करते हैं।  उसका जूस निकालना होता है। दूर्वा आसानी से खेतों में मिल जाएगी। उसे लाकर अच्छी तरह से धोकर उसे कूट लीजिए। उसके बाद उसका रस निकलता है।  वह एक चम्मच रस 1 गिलास ठंडे दूध में मिलाकर रोज सुबह खाली पेट लिजिए।


आंवला शरबत रोज लेने से गर्मी कम हो जाती है।  रात को सोते समय 10 से 12 काली किशमिश अच्छी तरह से चबाकर खाइए।  ठंडा दूध और ठंडी छाछ पीना हीट के पेशेंट के लिए फायदेमंद होता है।  रोज सुबह एक गिलास ठंडा दूध और या फिर ठंडी छांछ रोज पिया करें।


एक चम्मच सौंफ लिजिए।  उसे एक गिलास पानी में रात भर भिगोकर रखें। सुबह उसमें से सौंफ  निकालकर जो सौंफ  का पानी रहता है उसे खाली पेट रोज पिजिए। गर्मी का मौसम हीट के पेशेंट के लिए बहुत ही तकलीफ दायक होता है। गर्मी के मौसम में शरीर की गर्मी बहुत ही ज्यादा बढ़ती है।  उसको कम करने के लिए रोज तरबूज खरबूज और खीरा खाना फायदेमंद है।

How to reduce body heat आयुर्वेदिक औषधि

प्रवाल पंचामृत – preval panchamrit- प्रवाल पंचामृत इसका पाउडर यानी चूर्ण आता है।  आधा से एक चम्मच प्रवाल पंचामृत चूर्ण 1 चम्मच देसी घी में मिलाकर रोज सुबह शाम 2 बार खाली पेट चाटना है।
शौक्तिक भस्म-   इसका भी चूर्ण आता है।  रोज सुबह 1 से 2 छोटे चम्मच shouktik bhasma एक चम्मच देसी घी में मिलाकर खाली पेट सुबह शाम 2 टाइम चाटना है।


सिर्फ प्रवाल पंचामृत या शौक्तिक भस्म  इनमें से एक  का ही प्रयोग करें।  दोनों साथ में इसका उपयोग मत करें।  इसका कोर्स अगर आप 3 महीने लगातार करेंगे तो आपके शरीर की गर्मी हमेशा के लिए ठीक हो जाएगी ऐसा मेरा दावा है।

Melasma in hindi । stay fit stay healthy ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

Remove your ads block in browser to proceed.

Refresh