Punsavan sanskar in hindi

Punsavan sanskar in hindi

Punsavan sanskar in hindi – हर एक इंसान की इच्छा होती है की हमे लडका ही होना चाहिये. मां को तो सबसे पहले लगता है कि उसे लडका ही हो । लडका होने के लिए लोग न जाने क्या क्या करते है ।

बहुत सारे लोग देवी देवताओ को मन्नत मांगते है । कुछ लोग तो तांत्रिक मांत्रिक के पास भी जाते है । हाल ही मे इसके बारे मे बहुत बडा विवाद हुआ था ।

इंदुरीकर महाराज ने पुत्रप्राप्ती के कुछ उपाय बताये थे । इस पर बहुत बडा बवाल हुआ था। तो आम आदमी के मन मे यह प्रश्न है कि क्या सच मे आयुर्वेद मे ऐसी कोई औषधी हे जिसे पुत्र प्राप्त हो सके । अगर है तो वह क्या है ।

punsavan sanskar in hindi । लड़का होने के लिए क्या करें ।

इसका उत्तर है आयुर्वेद मे ऐसी औषधीयां हैं जिससे गर्भ का निर्धारण किया जा सके। Read more – Angiography in Hindi।

इसका मतलब यह है कि आयुर्वेदिक मे लडका होने के लिए क्या करना चाहिए और लडकी होने के लिए भी क्या करना चाहिए बताया है।

आयुर्वेद मे लडका और लडकी इसमे भेद नही किया गया है । सिर्फ लडका और लडकी दोनो होने के लिए क्या करना चाहिए बताया है ।

लडकिया लडका होने के लिए जो उपाय किये जाते है उसे आयुर्वेद मे पुसवन विधी कहा जाता है। यह विधि कब करना चाहिए यह सबसे बडा प्रश्न है ।

पुंसवन विधि कब करना चाहिए

पुसंवन विधि गर्भधारणा होने के बाद और गर्भधारणा के द्वितीय माह के अंत तक कभी भी कर सकते है ।

इसका मतलब यह है की अगर स्त्री को पता चले की वह गर्भवती है , तब जो पहला पुश्य नक्षत्र आता है , उसी दिन और उसी समय पुसवनविधी करना है।

इसमे पुष्य नक्षत्र सबसे महत्वपूर्ण है । इसी में ही यह कर्म करना चाहिये । अब हम मुख्य विधी देखेंगे ।

इसमे दो – से तीन अलग अलग उपाय बताये गये है। लेकिन सभी उपाय पुष्य नक्षत्र मे ही करणे है ।

पहिले उपाय मे दो पिली सरसो, दो गेहू के धान, वट के अंकुर इनको दवा मे मिलाकर पीसकर उसे ग्रहण करना है ।

दुसरे उपाय मे जीवक, ऋषभक, अपामार्ग , और सहचर यह थोडा थोडा और सब एक बराबर लेना है। इसका कल्क बनाकर उसे गाय के दूध के साथ लेना है ।

तिसरे उपाय मे लक्ष्मण , वट के नवीन अंकुर , सहदेवी इसे थोडा थोडा और समान मात्रा मे लेना है ।

इसे पिसकर उनका कल्क बनाये । इसे एक चमच गाय के दूध मे मिलाये और इसका नस्य करे।

नस्य का मतलब नाक मे डालना । अगर आपको लडका चाहिये तो राईट साईड के नासापूट मे उसे चार बूंद डाले।

और अगर लडकी चाहिए तो लेफ्ट साईड के नासापुट मे तीन या चार बूंद औषधी डाले ।

इसके बाद जो गले में औषधी आती है उसे पी लेना है । उपर के उपायों में जो वट के अंकुर बोले है वह पूर्व या उत्तर दिशा के ही होने चाहिए।

जो मैने आयुर्वेदिक औषधीयां बताई हैं वो आपको किसी भी आयुर्वेदिक मेडिकल मे आसाने से मिल जायेंग।

जो सब पुत्र प्राप्ति के जो मैने उपाय बताये है , वह सब अलग अलग आयुर्वेदिक ग्रंथो मे लिखे हुए है। तो आप इसे चॅलेंज नही कर सकते।

punsavan sanskar in hindi and लड़का होने के लिए क्या करें यह बताया है। Love cooking – gujrati Khandvi recipe.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

Remove your ads block in browser to proceed.

Refresh