Mala d tablet hindi

Mala d tablet hindi

माला डी गर्भनिरोधक गोली 

बहुत सारी औरतें गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती है। उनमें से कुछ ब्रांड नेमस है – mala – d, mala- n और ovral – l । गर्भनिरोधक गोलियों से गर्भनिरोधन आसान हो जाता है। mala d tablet hindi  , यह गोली प्रेग्नेंसी रोकने में यह कारगर है।


 यह हो गए इसके उपयोग । लेकिन इन गोलियों के बहुत सारे साइड इफेक्ट्स भी हैं । तो यह सब साइड इफेक्ट्स आपको पता होना चाहिए। यह गोलियां कब लेनी है,  कौन से डोस में लेनी है, कितने दिनों तक लेनी है?  और जो होने वाले साइड इफेक्ट से वह आप कैसे कम कर सकते हैं ? यह सब मैं आपको बताऊंगा।

Read this post in English

Mala d tablet hindi 

अगर आप की नई नई शादी हुई हो और आप बच्चे नहीं चाहते। या फिर आपको एक बच्चा हो और दूसरे बच्चों में आपको अंतर रखना हो । तो बहुत सारी  औरतें माला डी गर्भनिरोधक गोली  कांट्रेसेप्टिव पिल्स लेती है। mala d , mala n यानी गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन करती है । ऊपर के दोनों कंडीशन में गर्भ निरोधक गोलियां सबसे बेस्ट है दूसरे गर्भनिरोधक के उपायों से।


इसकी 21 गोलियां  आती है।  वह एमसी के मासिक धर्म के पांचवे दिन से 26 वे दिन तक लगातार लेनी होती है । कुछ-कुछ ब्रांड्स इनके 30 गोलियां भी आती है। वह एमसी के पहले दिन से तीसवे दिन तक लगातार लेनी होती हैं।


जो गर्भनिरोधक गोलियों के साइड इफेक्ट पाए जाते हैं वह गोलिया लगातार बहुत सालों तक लेने से ही होते हैं। इन गोलियों में हार्मोन होते  है।  उसमें फीमेल सेक्स हार्मोन पाए जाते हैं । उनका नाम है estrogen और प्रोजेस्टेरोन progesterone । यह गोलियां बहुत सालों तक लगातार लेना सेहत के लिए हानिकारक है।शरीर में हार्मोनल बैलेंस बिगड़ जाने से ऐसा होता है।

गर्भनिरोधक गोलियों के नुकसान 

जी मचलने की दिक्कत –  यह गोलियां लंबे समय तक लेने से,  जी मचलता है। अस्वस्थता, घबराहट सी महसूस होना  डर लगना यह प्रॉब्लम आ सकती है।


Nausia vomitting- नोसिया वोमिटिंग यह गोली खाली पेट लेने से एसिडिटी बढ़ती है । उल्टी आती है। उल्टी आने जैसा महसूस होता है । सीने में जलन यह प्रॉब्लम आते हैं।
स्तनों में   सूजन –  कुछ महिलाओं में ब्रेस्ट इंलारजमेंट होता है । स्तनों का आकार बढ़ता है । दोनों स्तन सूज जाते हैं। उस में भारीपन महसूस होता है।


सिर दर्द और माइग्रेन –  अगर आपको  पुराने से पुराना सिर दर्द हो या फिर माइग्रेन की बीमारी हो। तो आपको यह गोलियां लेनी नहीं चाहिए। इससे सिर दर्द और माइग्रेन दोनों ही बढ़ते हैं।
Vaginal डिस्चार्ज – महिलाओं के प्राइवेट पार्ट से गाढ़ा और सफेद पानी आना आम बात है। लेकिन इसके साथ खुजली और जलन अगर हो तो यह फंगल इंफेक्शन हो सकता है। पीला पानी आना, छाछ के माफिक पानी आना यह सब लक्षण गर्भनिरोधक गोलियों के अति सेवन के हैं।

Mala d tablet hindi


वेट गेन – बहुत सारी महिलाओं  का वजन इस से बढ़ता है । पूरा शरीर सूज जाता है। बहुत सारे महिलाओं में सुस्ती आना, laziness, काम करने में मन न लगना, यह लक्षण दिखाई देते हैं।
लो सेक्स ड्राइव –  एक स्टडी के मुताबिक oc pills से संभोग की इच्छा कम हो जाते हैं । सेक्स में मन नहीं लगता और रुचि कम हो जाती है।


मेलास्मा melasma- यानी चेहरे के ऊपर काले दाग धब्बे आ जाना । गर्भनिरोधक गोलियों का सेवन और धूप में ज्यादा देर देर तक काम करने से चेहरे के ऊपर काले दाग धब्बे आ जाते हैं । यह माथा, नाक और चेहरे के आजू-बाजू के एरिया में आ जाते है । बहुत दिनों तक रहते हैं।
ऊपर के कोई भी साइड इफेक्ट्स आपको अगर दिखाई दे तो आपको यह गोलियां तुरंत ही बंद कर देनी चाहिए। और डॉक्टर को दिखा लेना चाहिए।


उपर  के साइड इफेक्ट सिर्फ लगातार बहुत सालों तक रोज गोली लेने से ही होते हैं । इन साइड इफेक्ट्स को आप कम कर सकते हैं।  उसके लिए एक उपाय है। आप क्या करें 5 महीनों तक लगातार गर्भनिरोधक गोलियां ले और 1 महीने का gap दे ।


इसका मतलब है 5 महीने तक गोली लेना और एक महीना गोली नहीं लेना। उस 1 महीने में आप दूसरे गर्भनिरोधक के उपाय ट्राई कर सकते हैं। जैसे की condom । इससे इन गर्भनिरोधक गोलियों के साइड इफेक्ट्स और नुकसान खत्म हो जाएंगे।

Stay fit stay healthy । । blood donation benefits in hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

Remove your ads block in browser to proceed.

Refresh