Symptoms of chikungunya in hindi

Symptoms of chikungunya in hindi

Symptoms of chikungunya in hindi- हम ऐसी बीमारी के बारे में जान लेते हैं जो मच्छरों से होने वाली बीमारी है । आज तक हमने मलेरिया डेंगू और जिका वायरस के बारे में पूरी जानकारी ली हैं। यह चौथी बीमारी है जो मच्छर के काटने से होती है। यह बीमारी है चिकनगुनिया ।

यह बीमारी डेंगू के बाद पाई जाने वाली भारत में सबसे बड़ी बीमारी है ; जो मच्छरों के काटने से होने वाली बीमारीयां है। चिकनगुनिया एक हमेशा के लिए याद रहने वाली बीमारी है । क्योंकि अगर एक बार यह बीमारी हो जाए तो इसके साइड इफेक्ट सालों तक परेशान करते रहते हैं।

Let’s see symptoms of chikungunya in hindi- चिकनगुनिया के लक्षण और उपचार । read this post in English.

चिकनगुनिया क्या है ?

चिकनगुनिया वायरल dusease है। यानी यह वायरस से फैलती है। उस वायरस का नाम है चिकनगुनिया वायरस । यह बीमारी एशिया अफ्रीका और इंडियन सबकॉन्टिनेंट में ज्यादा पाई जाती है। हालांकि पूरे विश्व में भी इसके मरीज पाए जाते हैं पर कम मात्रा है।

यह बीमारी एपिडेमिक पांडेमिक के रूप में आती है। यह महामारी साल में बारिश और बारिश के मौसम के बाद ज्यादा फैलती है । जैसे मैंने पहले बताया यह बीमारी मच्छरों के काटने से होती है । उन मच्छरों का नाम है एडीसी इजिप्टी और edes albopictus । यह मच्छर ज्यादातर सुबह और शाम को काटते हैं।

Symptoms of chikungunya in hindi । chikungunya ke lakshan hindi mai।

यह वायरस शरीर में आने के बाद उसे 7 दिन में लक्षण दिखाना शुरू करता है । वह लक्षण है हाई ग्रेड फीवर ,तेज बुखार आना ; ज्वाइंट पेन , पूरा बदन दर्द करता है । खासकर जोड़ बहुत ज्यादा दुखते हैं। बुखार के तीन-चार दिन बाद पूरे शरीर पर रेड red rash आ जाती है । खासकर हाथ और पैरों पर rash ज्यादा आती है ।

इसके साथ सिर दर्द, बहुत ज्यादा थकावट महसूस होती है। पेट दर्द, अपचन , ग्यास gas यह भी इसके खास लक्षण है। आंख लाल होना , आंख से पानी आना यह पाया जाता है । इसमें से बहुत सारे लक्षण मलेरिया और डेंगू में पाए जाते हैं। तो हमे पता कैसे चलेगा कि हमें चिकनगुनिया है ?

तो चिकनगुनिया में जॉइंट बहुत ज्यादा दुखते हैं। यह वायरस जॉइंट cartilage को पूरी तरह से खराब करता है। इससे arthritis होता है । यानी कि जोड़ खराब हो जाता है। इसी वजह से चिकनगुनिया होने से 2 साल तक पूरे जॉइंट बहुत दर्द करते हैं । कुछ लोगों के तो उम्र भर जॉइंट दुखते रहते हैं । अब बुखार के साथ अगर जॉइंट पेन और सूजन हो तो चिकनगुनिया होता है।

Diagnosis of chikungunya in hindi

इसके डायग्नोसिस के लिए ब्लड टेस्ट है । उसका नाम है chikungunya IgM आईजीएम टेस्ट । इस में चिकनगुनिया के खिलाफ जो antibodies है उसे ब्लड में डिटेक्ट किया जाता है । चिकनगुनिया की कोई खास ट्रीटमेंट नहीं है। और उस पर कोई खास vaccine काम नहीं करती है।

यह कोई भयानक जानलेवा बीमारी नहीं है । इसका treatment में स्ट्रिक्ट बेड रेस्ट , लिक्विड पदार्थ ज्यादा लेना और सिंप्टोमेटिक ट्रीटमेंट दी जाती है । जिसमें पेन किलर और बुखार की दवा paracetamol शामिल है ।

Prevention from चिकुणगुण्या

जबकि इसकी कोई खास ट्रीटमेंट या फिर vaccine उपलब्ध नहीं है । तो इसकी प्रीवेंशन ही सबसे महत्वपूर्ण है । इसके लिए मच्छर मारना और घर के आजू-बाजू पानी जमा न होने देना यह महत्वपूर्ण है। क्वाइल , मस्की टो रिपेयलेंट क्रीम , liquidattor , फास्ट कार्ड लगाना अनिवार्य है ।

आजू बाजू का एरिया साफ सुथरा रखें और उसमें पानी जमा न होने दें। क्यों कि उसमें मच्छर अंडा देता है । दरवाजे और खिड़कियां हमेशा बंद रखे । दरवाजे और खिड़कियाँ जाली लगाकर पैक करें । arogyavardhini vati in hindi.

Symptoms of chikungunya in hindi and chikungunya ke lakshan hindi mai explained in detail. Thank you 🙏🙏.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

Remove your ads block in browser to proceed.

Refresh